स्लोडाउन में एंड्युरेंस टेक्नॉलजी हो सकती है अच्छा दांव

टू-वीइलर पार्ट्स की सप्लाई में एंड्युरेंस टेक्नॉलजी अपनी प्रतिद्वंद्वी कंपनियों की तुलना में अच्छी स्थिति में है। बीएसई ऑटो इंडेक्स से 15 प्रतिशत प्रीमियम पर ट्रेड कर रही एंड्युरेंस को खरीदने का यह बेहतर समय हो सकता है। कंपनी ने 2016 में अपनी लिस्टिंग से बीएसई ऑटो इंडेक्स से औसत 64 प्रतिशत के प्रीमियम पर ट्रेड किया है।

एंड्युरेंस ने इंडस्ट्री के मुकाबले बेहतर ग्रोथ की

सितंबर में एंड्युरेंस का लोकल रेवेन्यू 10 प्रतिशत गिरा जबकि इंडस्ट्री की वॉल्यूम में इसी अवधि में 15 प्रतिशत की कमी आई। नई ऑटोमोबाइल कंपनियों की ओर से ऑर्डर बढ़ने के कारण एंड्युरेंस की ग्रोथ इंडस्ट्री से अच्छी रही है। रिप्लेसमेंट मार्केट में इसकी ग्रोथ वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 10 प्रतिशत रही है। मौजूदा ग्राहकों से भी कंपनी को मिलने वाले ऑर्डर में वृद्धि हुई है। इसका ऑपरेटिंग मार्जिन डोमेस्टिक बिजनस के लिए 2 प्रतिशत बढ़कर 15.2 प्रतिशत पर पहुंच गया। यह टू-वीइलर मेकर्स को डिस्क ब्रेक, डिस्क ब्रेक असेंबली, शॉक अब्जॉर्बर और सिलिंडर ब्लॉक जैसे पार्ट्स की सप्लाई करती है।

सेल्स वॉल्यु में डबल डिजिट की ग्रोथ
महाराष्ट्र में औरंगाबाद की यह कंपनी बजाज ऑटो और रॉयल एनफील्ड की प्रमुख सप्लायर रही है। अब यह हीरो मोटोकॉर्प, होंडा मोटरसाइकिल ऐंड स्कूटर (HMSI) और टीवीएस मोटर को बिक्री बढ़ा रही है। सितंबर क्वॉर्टर में हीरो मोटोकॉर्प को कंपनी की सेल्स वॉल्यूम डबल डिजिट में बढ़ी है। एंड्युरेंस के कर्नाटक में प्लांट से होंडा मोटरसाइकल ऐंड स्कूटर को फ्रंट फोर्क की सप्लाई शुरू हो गई है। कंपनी को टीवीएस से अपाचे मोटरसाइकिल के लिए पिछले फाइनैंशल इयर में डिस्क ब्रेक असेंबली के लिए बड़ा ऑर्डर मिला था। कर्नाटक प्लांट से टीवीएस को भी सप्लाई की जाएगी। एंड्यूरेंस अब टीवीएस से ब्रेक और सस्पेंशन के लिए नए ऑर्डर हासिल करने पर ध्यान दे रही है।

कंपनी को मिले नए ऑर्डर
पैसेंजर कार सेगमेंट में यह हुंडई और किआ मोटर्स को एल्युमीनियम और मशीन कास्टिंग पार्ट्स की सप्लाई कर रही है। मौजूदा फाइनैंशल इयर की पहली छमाही में एंड्युरेंस को किआ मोटर्स, HMSI और हीरो मोटोकॉर्प जैसी कंपनियों से 340 करोड़ रुपये के नए ऑर्डर मिले हैं। ऐनालिस्ट्स को चालू वित्त वर्ष में एंड्युरेंस की डोमेस्टिक रेवेन्यू ग्रोथ पॉजिटिव रहने जबकि इंडस्ट्री की ग्रोथ में 10-15 प्रतिशत की कमी आने का अनुमान है। कंपनी को आने वाले समय में कार कंपनियों से भी अधिक ऑर्डर मिलने की उम्मीद है।

विदेश में भी मिल रहे नए ग्राहक
एंड्युरेंस को विदेश में अपनी बिजनस में भी नए कस्टमर्स से अधिक ऑर्डर मिल रहे हैं। यह कार कंपनियों को एल्युमीनियम डाई-कास्टिंग कंपोनेंट्स की सप्लाई करती है। इसके कुल रेवेन्यू में इस बिजनस की हिस्सेदारी 27 प्रतिशत की है। कंपनी ने यूरोप में फोक्सवैगन से अपनी कुल आमदनी में हिस्सेदारी बढ़ाई है। फिएट क्राइसलर के बाद फोक्सवैगन इसके रेवेन्यू में सबसे अधिक योगदान देती है। सितंबर क्वॉर्टर में फोक्सवैगन से इसका रेवेन्यू 27 प्रतिशत बढ़ा है। हालांकि, विदेशी बिजनस से कुल रेवेन्यू इस अवधि में 7 प्रतिशत कम हो गया। बीएसई पर मंगलवार को एंड्युरेंस टेक्नॉलजी का शेयर 5.32 प्रतिशत चढ़कर 1,095.60 रुपये पर बंद हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *