गिर चुका हैं आपके शरीर का सामान्य तापमान, शोध में हुआ रोचक खुलासा

जब भी कभी हमें बुखार मह्स्पूस होता हैं तो डॉक्टर सबसे पहले थर्मोमीटर की मदद से आपके शरीर का तापमान जांचते है ताकि बुखार का सही पता लगाया जा सके। दरअसल, इंसान का एक सामान्य तापमान होता हैं जिससे ऊपर होने पर उसकी बुखार के स्तर का पता लगाया जाता हैं। जब शरीर का तापमान 98.6 फारेनहाइट (37 डिग्री सेल्सियस) रहता है तो उसे सामान्य कहा जाता है। हांलाकि हाल ही स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च में खुलासा हुआ हैं कि मनुष्य के शरीर का औसत तापमान 19वीं सदी के शुरुआत में जन्में किसी भी व्यक्ति की तुलना के मुकाबले 0.59 डिग्री ठंडा हो गया है।

अध्ययन के मुताबिक, वहीं महिलाओं के शरीर का औसत तापमान 18वीं सदी में जन्मीं महिलाओं के मुकाबले 0.32 डिग्री सेल्सियस हो गया है। अध्ययन में कहा गया कि महिला और पुरुष दोनों के शरीर का औसत तापमान 37 डिग्री सेल्सियस से कुछ कम हो गया है। दरअसल 37 डिग्री सेल्सियस को शरीर का सामान्य तापमान माना जाता है। लेकिन इस अध्ययन में पुरुषों के शरीर का तापमान 36.62 डिग्री सेल्सियस (97.9 फारेनहाइट ) बताया गया है जबकि महिलाओं का शरीर पुरुषों के मुकाबले थोड़ा गर्म होता है। कुछ अन्य अध्ययनों में भी इसे प्रकार के नतीजे सामने आए हैं।

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में मेडिसिन एंड हेल्थ रिसर्च एंड पॉलिसी की प्रोफेसर और अध्ययन की लेखक डॉ. जूली पार्सोनेट का कहना है, ”हमारे शरीर का तापमान वह नहीं है, जैसा लोग सोचते हैं।” उन्होंने कहा कि जैसा कि हम ये सुनते हुए बड़े हुए हैं कि हमारे शरीर का सामान्य तापमान 98.6 फारेनहाइट (37 डिग्री सेल्सियस) है, एकदम गलत है। शोधकर्ता इस निष्कर्ष पर अमेरिका डेटा के तीन सेट का अध्ययन करने के बाद पहुंचे हैं। इन सेट में सिविल वॉर में लड़ने वाले सैनिकों से पहले के लोगों से भी जुड़े कुछ आंकड़े हैं। इस अध्ययन के निष्कर्ष इस महीने की शुरुआत में जर्नल ईलाइफ में प्रकाशित हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *