नया खुलासा : चमगादड़ और सांप ने आपस में मिलकर बनाया कोरोनावायरस, अब तक 17 की मौत

चीन में 22 जनवरी तक कोरोनावायरस से संक्रमित 555 लोग सामने आए हैं। 555 संक्रमित लोगों में से 444 लोग सिर्फ वुहान से हैं। इसके अलावा 26 लोग गुआंगडोंग प्रांत में, 14 लोग बीजिंग में और 9 लोग शंघाई में संक्रमित हैं। ये सभी बुखार, सांस लेने में दिक्कत और निमोनिया (Pneumonia) से ग्रसित हैं। इस वायरस की वजह से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस वायरस ने थाईलैंड, जापान, दक्षिण कोरिया और अमेरिका में भी संक्रमण फैला दिया है।

चमगादड़ और सांप के वायरस ने आपस में मिलकर कोरोना वायरस बनाया

नया खुलासा ये हो रहा है कि यह वायरस सांप के जरिए लोगों में फैला है। अब चीन के एक वैज्ञानिक ने यह दावा किया है कि कोरोनावायरस (Coronavirus) सांप के जरिए लोगों में फैला है। ऐसा इसलिए नहीं हुआ कि इतने लोगों को सांप ने काटा है। ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि चीन में सांप खाने की परंपरा है। चीन के वुहान में ऐसे जीव-जंतुओं का बाजार है जहां सांप, चमगादड़, मैरमोट्स, पक्षी, खरगोश आदि बिकते हैं। इन जीवों को चीन के लोग खाते हैं। वैज्ञानिकों का मानना है चमगादड़ से फैलने वाला SARS का वायरस सांप के जरिए लोगों में फैला। वैज्ञानिकों का मानना है कि SARS वायरस सांप में गया तो वह कोरोनावायरस में तब्दील हो गया। सांप के शरीर में बने नए कोरोनावायरस का कोई इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है।

coronavirus,china,what is corona virus,snake,bat,coronavirus,coronavirus symptoms,coronavirus prevention ,वुहान, चीन, कोरोनावायरस, संक्रमण फैला, लोगों में, सांप

कोरोना वायरस पर अध्ययन करने वाले वैज्ञानिक वी जी ने यह खुलासा किया है कि चमगादड़ से सांप में आने के बाद वायरस ने अपने जीनोम में बदलाव कर लिया। इससे यह बेहद खतरनाक हो गया है। वी जी ने विभिन्न जीव-जंतुओं से कुल मिलाकर 217 वायरस के सैंपल लिए थे। इनमें से पांच सैंपल कोरोनावायरस के थे। जब सभी जीवों में मिलने वाले वायरस की तुलना इस नए वायरस से की गई तो पता चला कि यह वायरस सांपों में मिल रहे वायरस से मिलता है।

वी जी की बात का समर्थन करते हुए पेंसिलवेनिया स्थित पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हाईताओ गुओ ने बताया कि यह खुलासा बेहद हैरान करने वाला है। चमगादड़ और सांप के वायरस ने आपस में मिलकर कोरोना वायरस बनाया है।

सिएटल स्थित वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर पीटर राबिनोविट्ज का कहना है कि यह एक ताज्जुब वाली बात है कि दो जीवों के वायरस आपस में मिल गए। अब ये हवा और खाने के जरिए इंसानों में फैल चुके हैं। वायरस का इस तरह से बदलना भविष्य के लिए खतरनाक है।

बता दे, चीन में न्यू ईयर मनाने के लिए इस हफ्ते लाखों लोगों आना-जाना करेंगे। इसे देखते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने एयरपोर्ट्स, बस अड्डों, ट्रेनों में लोगों की जांच की जा रही है। बीजिंग, शंघाई और चोंगकिंग के साथ ही उत्तर पूर्व, मध्य और दक्षिण चीन से भी कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। जापान, मकाऊ, दक्षिण कोरिया, ताइवान, थाईलैंड और अमेरिका में भी इसके मामले मिले। हॉन्गकॉन्ग और ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि वुहान में 1300 से 1700 लोग संक्रमित हो सकते हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने लोगों से आग्रह किया है कि वे नियमित रूप से हाथ धोएं, भीड़भाड़ वाली जगहों से बचें, ताजी हवा लें और खांसी होने पर मास्क पहनें। खांसी या बुखार होने पर अस्पताल जाएं। स्थानीय सरकार ने महत्वपूर्ण सार्वजनिक गतिविधियों को रद्द कर दिया है। 3-9 फरवरी को होने वाली महिला ओलिंपिक फुटबॉल क्वालिफाइंग मैच को पूर्वी शहर नानजिंग में स्थानांतरित कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *