स्वागत करना चाहती थीं ममता बनर्जी, लेकिन PM Modi ने दूर से ही जोड़ लिए हाथ, किया सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को चक्रवाती तूफान एम्फन प्रभावित पश्चिम बंगाल और ओडिशा का दौरा कर रहे हैं। पीएम सबसे पहले विशेष विमान से कोलकाता पहुंचे। एयरपोर्ट पर राज्यपाल के साथ ही ममता बनर्जी ने पीएम का स्वागत किया। प्रधानमंत्री ने बहुत ही विनम्रतापूर्वक सीएम ममता बैनर्जी द्वारा आतिथ्य सत्कार के लिए लाए गए शॉल/दुपट्टे को सोशल डिस्टेंसिंग के चलते स्वीकार करने से मना कर दिया। (नीचे दिखें वीडियो) यहां तूफान से हुए नुकसान का हवाई सर्वे करने के बाद पीएम मोदी ओडिशा जाएंगे और रात में ही दिल्ली लौट आएंगे। यह 83 दिन बाद पहला मौका है जब पीएम मोदी दिल्ली से बाहर निकले हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने 29 फरवरी को उत्तर प्रदेश के चित्रकूट और प्रयागराज का दौरा किया था। इस बीच, चक्रवाती तूफान पश्चिम बंगाल और ओडिशा में तबाही मचाने के बाद आगे बढ़ गया है। दोनों राज्यों में 72 लोगों के मारे जाने की खबर है। ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से अपील की थी कि वे प्रभावित हिस्से का दौरा करें और राहत पैकेज का ऐलान करें।

अकेले कोलकाता में 15 लोगों की मौत हुई है। ममता बनर्जी का कहना है कि राज्य में भारी तबाही हुई है और हालात सामान्य होने में वक्त लग सकता है। कोलकाता समेत राज्य के कई जिलों में हजारों लोग बेघर हो गए हैं। हजारों मकान नष्ट हो गए और निचले इलाकों में पानी भर गया। भारी बारिश और तेच रफ्तार वाली हवाओं के साथ एम्फन ने तबाही मचाई।

बंगाल के उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिले में चक्रवात के कारण भारी बारिश और तूफान आने से खपरैल वाले मकानों के ऊपरी हिस्से तेज हवाओं में उड़ गए। पेड़ एवं बिजली के खंभे उखड़ गए और निचले शहरों एवं गांवों में पानी भर गया कोलकाता में 125 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं ने कारों को पलट दिया। सुंदरवन डेल्टा के तटबंध चक्रवात के कारण टूट गए। दीघा और सुंदरवन में ऊंची लहरें उठती नजर आईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *