प्रधानमंत्री मोदी ने मध्य प्रदेश के तिरला गांव के किसान से की बात, पूछा-कंपनी के लोग परेशान तो नहीं करते

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देशभर के किसानों से चर्चा की। प्रधानमंत्री से बात करने का मौका इंदौर संभाग के धार जिले के तिरला गांव के किसान मनोज पाटीदार को मिला।

मनोज ने प्रधानमंत्री को बताया कि नए कृषि कानून से किसानों के लिए नए द्वार खुले हैं। उन्हें खुद नए कानून से फायदा भी हुआ है। उन्होंने अपनी उपज आइटीसी कंपनी को बेची है और ज्यादा दाम प्राप्त किए हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने पलटकर पूछा कि क्या निजी कंपनी के लोग मिट्टी या कंकड़ के बहाने किसानों को परेशान तो नहीं करते हैं। इस पर किसान पाटीदार ने उन्हें बताया कि उनकी उपज उनकी नजरों के सामने ही तुली है और उन्हें कोई दिक्कत नहीं आई है। पाटीदार ने प्रधानमंत्री के पूछे जाने पर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से होने वाले लाभ का भी जिक्र किया। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत् राशि सीधे उनके खाते में निर्धारित समय पर प्राप्त हो गई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने किसान पाटीदार से उनकी खेती-किसानी के बारे में भी रुचिपूर्वक पूछा। किसान द्वारा उन्हें अवगत कराया गया कि उन्होंने पांडुरंग शास्त्री आठवले के आश्रम से खेती की शिक्षा प्राप्त की है। प्रधानमंत्री ने तुरंत उनसे पूछा क्या वे अहमदाबाद में रहे हैं। पाटीदार ने बताया कि हां, मैंने अहमदाबाद में रहकर भी इस संबंध में शिक्षा प्राप्त की है। किसान द्वारा यह अवगत कराए जाने पर कि उनके परिजन भी यहां बैठे हैं, प्रधानमंत्री मोदी ने दोनों हाथ जोड़कर परिजनों को भी नमस्कार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *