माघ मेले में पर्यटकों के लिए स्वास्थ्य विभाग ने की विशेष व्यवस्था

तीर्थराज प्रयाग में 14 जनवरी से शुरू हो रहे माघ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड-19 से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कई विशेष व्यवस्थाएं की हैं।आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि मेला क्षेत्र में छह स्टैटिक बूथ परीक्षण केंद्र पर एंटीजन एवं आरटीपीसीआर परीक्षण सुविधा उपलब्ध होगी। लैब टेक्नीशियन एवं स्वास्थ्य कर्मचारियों से युक्त 2० मोबाइल परीक्षण वैन भी कार्यरत हैं। 20 बेड के दो अस्पताल, त्रिवेणी अस्पताल, सेक्टर 2 एवं गंगा अस्पताल, सेक्टर चार में तैयार कराए जा रहे हैं। उन्होने बताया कि प्रत्येक अस्पताल में मरीजों के बेहतर उपचार के लिए छह स्वास्थ्य विशेषज्ञ,12 मेडिकल ऑफिसर तथा एंबुलेंस के लिये डॉक्टर्स चैबीसों घंटे रहेंगे। कोविड.19 संक्रमितों की पहचान के लिए 100 विशेष डोर टू डोर टीमों का गठन हो चुका है जो संस्थाओं में जाकर सवेर् कर रही हैं तथा वहां रहने वाले कोविड.19 लक्षण युक्त व्यक्तियों की जानकारी निरंतर ले रही हैं।
मेले में प्रवास के दौरान सभी कल्पवासियों का तीन बार एंटीजन टेस्ट कराया जाएगा तथा उन्हें आईवरमेक्टिन का डोज दिया जाएगा। हर कल्पवासी से संबंधित जानकारी उन्हें जारी किए गए विशेष कोविड केयर कार्ड में दर्ज की जाएगी जिसकी विशेष निगरानी सर्विलेंस टीम करेगी। मेले में पाए जाने वाले केारोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए भी समुचित व्यवस्था की गई है। हर सेक्टर में नियुक्त रैपिड रिस्पांस टीम अलक्षणिय मरीज को एल 1 कोविड-19 सेंटर, कालिंदीपुरम एवं लक्षणयुक्त मरीज को बेली और एसआरएन तक ले जाएगी।
उन्होने बताया कि हर सेक्टर में एक आरआरटी टीम नियुक्त की गई है जिसमें एक डाक्टर एवं एक पारा मेडिकल कर्मचारी हैं। संक्रमितों का मेले में प्रवेश प्रतिबंधित करने के लिये मेले के 16 प्रवेश मागोर् में थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था कर दी गई है। स्टेटिक कोविड सैंपलिंग सेंटर से मेला क्षेत्र में संक्रमितों की पहचान के लिए प्रतिदिन 500 से 600 टेस्ट करवाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *