राम मंदिर के लिए राष्ट्रपति ने दिए 5 लाख 100 रुपए, करोड़ों में राशि देने की होड़ मची

अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के लिए चंदा जुटाने का अभियान शुक्रवार से शुरू हो गया। पहला चंदा देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लिया गया। राष्ट्रपति ने 5 लाख 100 रुपए का चंदा दिया। श्री राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट और विश्व हिंदू परिषद मिलकर देश के पांच लाख गांवों के 1 करोड़ घरों से यह चंदा जुटाएंगे। Ram Mandir Donation अभियान 15 जनवरी से शुरू होकर 27 फरवरी तक चलेगा। 27 फरवरी को माघ पूर्णिमा है। इस बीच, खबर है कि उत्तर प्रदेश में करोड़ों का चंदा देने की होड़ मच गई है। सुबह खबर आई थी कि रायबरेली के सुरेंद्र सिंह 1 करोड़ 11 लाख रुपए का सबसे बड़ा चंदा देने जा रहे हैं। इसके बाद सूचना है कि अमेठी के राजेश मसाला ने 1 करोड़ 25 लाख रुपए का चंदा देने का फैसला किया है। यह चंदा लेने के लिए राम मंदिर ट्रस्ट के चंपत राय रायबरेली और अमेठी में हैं।

बता दें, ट्रस्ट ने 10, 100 तथा 1000 रुपए के कूपन छपवाए हैं। चंद की रसीद के रूप में ये कूपन दिए जाएंगे, ताकि पारदर्शिता रहे। 42 दिन चलने वाले इस अभियान में साधु-संत भी शामिल होंगे। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि 10 रुपए के 4 करोड़, 100 रुपए के 8 करोड़ तथा 1000 रुपये के 12 लाख कूपन छपवाए गए हैं। 2000 रुपए से ज्यादा सहयोग करने वालो को रसीद दी जाएगी। राम मंदिर के निर्माण में विदेशी फंड का इस्तेमाल नहीं होगा। साथ ही कंपनियों के कारपोरेट सामाजिक दायित्व (सीएसआर) फंड का इस्तेमाल भी मंदिर निर्माण में नहीं होगा। ट्रस्ट साफ कर चुका है कि इस चंद के लिए समाज के सभी वर्गों से सम्पर्क किया जाएगा।

…तब तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने दिया था चंदा

हाल के वर्षों में यह पहला मौका है जब किसी राष्ट्रपति से चंदा लिया जा रहा है। पिछली बार गुजरात के सोमनाथ मंदिर के लिए चंदा अभियान शुरू हुआ था, जिसमें तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने भी हिस्सा लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *