18 वर्ष के कम वालों को नहीं लगेगी वैक्सीन, गर्भवती महिलाओं के लिए ये निर्देश

देश में कोरोना वैक्सीनेशन की पूरी तैयारी कर ली गई है। टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से देशभर में शुरू किया जाएगा। इस बीच केंद्र सरकार से जारी दिशा निर्देशों में बताया गया है कि सिर्फ 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए वैक्सीन लगाई जाएगी। गर्भवती महिला या स्तनपान करानी वाली महिलाएं भी अभी वैक्सीन न लगवाएं। साथ ही केंद्र सरकार ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति को कोरोना के लक्षण हैं तो उस व्यक्ति को वैक्सीन ठीक होने के 4-8 हफ़्ते बाद लगाया जाना चाहिए।

केंद्र के दिशा निर्देश

 

– कोरोना वैक्सीन सिर्फ 18 वर्ष और उससे ज्यादा उम्र वाले लोगों को लगाना चाहिए।

-वैक्सीन लगाने वाले वालंटियर्स को 14 दिनों के अंतराल से अलग किया जाना चाहिए।

– दूसरी खुराक तभी दी जानी चाहिए, जब पहली डोज ली गई थी। वैक्सीन के इंटरचेंजिंग की मंजूरी नहीं है।

ये लोग बिल्कुल न लें वैक्सीन

– पहले डोज के कारण ऑनफ्लेक्टिक या एलर्जी रिएक्शन, एनाफिलेक्सिस या एलर्जी रिएक्शन के लक्षण दिखें

– गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं, क्योंकि इन पर अभी तक क्लिनिकल ट्रायल नहीं कराया गया है।

– स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस समय वैक्सीन नहीं देनी चाहिए।

इस बात की रखें सावधानी

 

वैक्सीन को ब्लीडिंग या कोगुलेशन डिसऑर्डर की हिस्ट्री वाले व्यक्ति में सावधानी के साथ लगाना चाहिए। वहीं SARS-CoV-2 संक्रमण, आरटी-पीसीआर पॉजिटिव बीमारी के पिछले हिस्ट्री के लोग – पुरानी बीमारियों और मॉर्बिडिटीज, इम्यूनो-डिफिसिएंसी, एचआईवी, किसी भी स्थिति की वजह से इम्यून-सप्रेशन के मरीज को वैक्सीन लगाते समय सावधानी रखना चाहिए। वैक्सीन लगाने के बाद निरीक्षण में रखना चाहिए।

ऐसा है दोनों वैक्सीन का डोज 

कोविशील्ड:

10 डोज की शीशी

डोज: 0.5 मिली

शेड्यूल: 4 हफ्ते बाद

स्टोरेज: 2-8 डिग्री

कोवैक्सीन

– 20 डोज की शीशी

डोज: 0.5 मिली

शेड्यूल: 4 हफ्ते बाद

स्टोरेज: 2-8 डिग्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *