क्या घूमने का है आपका भी मन तो इन स्थानों से सुन्दर और कुछ नहीं

भारत के सबसे खूबसूरत शहर चंड़ीगढ़ में पर्यटकों को लुभाने के लिए बहुत सारे ऐसे स्थान हैं. जिनको देखकर पर्यटकों को बहुत आनंद प्राप्त होता है. क्योंकि यह शहर बहुत ही उंचाई पर बसा और इसी कारण यहाँ मौसम सदैव एक समान रहता है, यहाँ पर आने के लिए सबसे अच्छा समय नवम्बर से अगस्त माह तक होता है, क्योंकि इस समय शरद ऋतू का मौसम होता है जो कि बहुत अच्छा होता है, चंडीगढ़ शहर को फ़्रांस के वास्तुकारों द्वारा सजाया संवारा गया है. इस कारण ये शहर अपने आप में विशेष खूबियां रखता है. यहाँ पर कई प्रकार के मनोरम दृश्य देखने को मिलते हैं जो यहाँ आने वाले सभी पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करते हैं.यहाँ के कुछ मनोरम स्थान इस प्रकार हैं.

1 . पिंजौर गार्डन : 17 वी शताब्दी के महान शासक औरंगजेब ने अपने विशेष वास्तुकार नवाब फिदाई खान से एक बहुत ही भव्य बगीचा बनवाया जिसे आज हम सभी पिंजौर गार्डन के नाम से जानते हैं.ये उद्द्यान बहुत ही विस्तृत क्षेत्र में फैला हुआ है और इसकी नर्म घांस पर चलने पर स्वर्ग की अनुभूति होती है.

 

2 . सुखना झील : 1958  में मानव निर्मित यह झील खूबसूरत झीलों में से एक है जिसका मनमोहक नज़र आँखों को बहुत ही सुकून और मन को शांति प्रदान करता है. ये झील शिवलिक पहाड़ी के तल में निर्मित की गई है.

3 . रोज गार्डन : जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है की ये बाग़ गुलाब के फूलो के लिए ही बना है. हालांकि ये बगीचा एशिया में सबसे बड़ा वनस्पति उद्द्यान है. और इस गार्डन का यह नाम हिन्दुस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जाकिर हुसैन के नाम पर रखा गया है.

4 . अनोखा संग्रहालय: जहाँ पर्यटक स्थलों की बात हो और संग्रहालय का ज़िक्र न आये ऐसा हो ही नहीं सकता. चंडीगढ़ शहर के सेक्टर 10  में ऐसा ही बहुत ही अनोखा संग्रहालय स्थित है. इस म्यूज़ियम की ख़ास बात यह है कि यहाँ डायनासोर के जीवाश्म मिलते हैं जिसे देखने के लिए आगुन्तको का तांता वर्ष भर लगा रहता है.

5 . ली कार्बुजिए सेंटर : जैसा की हम पहले बता चुके हैं कि चंडीगढ़ शहर को फ्रांस के वास्तुकारों ने सजाया है. शहर को अधिक सुंदरता प्रदान करने के लिए फ्रांस और स्विस वास्तुकारों ने ली कार्बुजिए का निर्माण किया था. और इस ईमारत को बहुत ही सुन्दर ढंग से बनाया गया है जिसकी सुंदरता हर देखने वाले का दिल जीत लेती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *