रवि शास्त्री का खुलासा- विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद धोनी की आंखों में आंसू थे

न्यूजीलैंड के खिलाफ 2019 विश्व कप की हार को भारत के क्रिकेट इतिहास में हमेशा याद किया जाएगा। यह पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच था। धोनी सेमीफानल में रन आउट हो गए थे। इसके साथ ही भारत का वर्ल्ड कप जीतने का सपना टूट गया था। टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने कहा कि मुझे याद है कि महेंद्र सिंह धोनी जब पवेलियन लौट रहे थे, lतब उनकी आंखों में आंसू थे। शास्त्री ने यह खुलासा अपनी नई किताब ‘स्टारगेजिंग: द प्लेयर्स इन माई लाइफ’ (Stargazing:The Players in My Life) में किया है।

एमएस धोनी ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी20 के साथ किया। वह अपने कार्यकाल के दौरान टी20 विश्वकप, 50 ओवर का वर्ल्ड कप और आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान हैं। चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान ने 15 अगस्त 2020 को अपनी अंतरराष्ट्रीय रिटायरमेंट की घोषणा की। उनका टेस्ट संन्यास उतना ही चौंकाने वाला था जितना कि इंटरनेशनल। 2014 में मेलबर्न में तीसरा टेस्ट ड्रॉ होने के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने ड्रेसिंग में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का निर्णय लिया था।

 

रवि शास्त्री ने महेंद्र सिंह धोनी के बारे में लिखा कि अभी भी टीम के शीर्ष तीन सबसे फिट खिलाड़ियों में हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व विकेटकीपर को अपने फैसले पर फिर से विचार करने को कहा था। हालांकि धोनी ने इस पर टिके रहकर सही फैसला लिया। टीम इंडिया के मुख्य कोच ने कहा कि एमएस धोनी युवाओं के लिए बड़ी प्रेरणा है। कोई आश्चर्य नहीं कि बीसीसीआई ने उन्हें टी20 विश्वकप में भारतीय टीम का मेंटर नियुक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *