कोरोना की तीसरी लहर में इंदौर में एक दिन में पांच हजार संक्रमित मिलने की आशंका

शहर में कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के बीच राज्य आपदा प्रबंधन समिति के सदस्य डा. निशांत खरे ने यह बयान देकर चौका दिया है कि कोरोना की दूसरी लहर में जिस तरह से शहर में 1800 के आसपास मरीज रोज मिले थे उसे देखते हुए तीसरी लहर में पांच हजार मरीज भी रोज मिले तो आश्चर्य नहीं होना चाहिए। खरे ने कहा ओमिक्रोन अन्य वैरिएंट के मुकाबले आठ-दस गुना ज्यादा तेजी से फैलता है। यह उन लोगों पर भी हमला कर रहा है जिन्हें दोनों टीके लग चुके हैं या जो पहले संक्रमित हो चुके हैं।

उन्होंने कहा कि ओमिक्रोन को लेकर विश्व के अन्य देशों के आंकड़े देखें तो अमेरिका में दस लाख तक केस रोज मिल रहे हैं। इस वैरिएंट का प्रभाव इसे से समझी जा सकती है कि जिन देशों की संख्या हमारे चार जिलों के बराबर है वहां से लाखों मामले मिल रहे हैं। इस बात की आशंका भी है कि इस वैरिएंट का प्रभाव सभी क्षेत्रों में और बहुत बड़ी संख्या हो सकता है। ग्रामीण क्षेत्र भी इससे अछूता नहीं रहेगा।

मीडिया से चर्चा में खरे ने कहा कि इंदौर को लेकर अनुमान है कि यहां मरीज निश्चित तौर पर तेजी से बढ़ेंगे। यह संख्या अप्रत्याशित हो सकती है। कोरोना के मरीज किस तेजी से बढ़ रहे हैं यह इसी से समझा जा सकता है कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर में शून्य से 500 तक पहुंचने में कितना समय लगा था और इस बार कितने समय में हम शून्य से पांच सौ पर पहुंच गए। इस बार यह अनुमान भी है कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ बस्तियों में भी बड़ी संख्या में कोरोना के केस सामने आएंगे। जिन्होंने दोनों डोज लगावा ली है या जो पहले संक्रमित हो चुके हैं उनके भी इस बार संक्रमित होने की आशंका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *