DCGI ने दी भारत में सिंगल-डोज़ स्पुतनिक लाइट COVID-19 वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की अनुमति

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया का कहना है कि DCGI ने भारत में सिंगल-डोज़ स्पुतनिक लाइट COVID-19 वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी है। उन्होंने ट्वीट किया, यह देश में 9वां #COVID19 वैक्सीन है। स्वदेशी दवा कंपनी डा. रेड्डीज लैबोरेटरीज कोरोना रोधी वैक्सीन स्पुतनिक लाइट का बूस्टर डोज के रूप में परीक्षण करना चाहती है। कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इसके लिए भारत के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआइ) को प्रस्ताव भी सौंप दिया गया है। हैदराबाद स्थित डा. रेड्डीज लैबोरेटरीज ने कोरोना रोधी वैक्सीन स्पुतनिक-वी का भारत में क्लीनिकल परीक्षण और वितरण के लिए रसियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड (आरडीआइएफ) के साथ करार किया है।

 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने रविवार को यह जानकारी देते हुए ट्वीट किया, “डीसीजीआइ ने एक डोज वाली स्पुतनिक लाइट कोविड-19 वैक्सीन के भारत में आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दे दी है। इससे महामारी के खिलाफ देश की सामूहिक लड़ाई को और मजबूती मिलेगी।” इससे पहले, शनिवार को डीसीजीआइ के तहत आने वाली विषय विशेषज्ञ समिति ने स्पुतनिक लाइट को आपात उपयोग की मंजूरी देने की सिफारिश की थी।

को मिली नौवीं कोरोना वैक्सीन

स्पुतनिक लाइट नौवीं कोरोना वैक्सीन बन गई है जिसे देश में आपात उपयोग को मंजूरी दी गई है। अब तक जिन आठ वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है वे सब दो डोज वाली हैं। इनमें स्पुतनिक वी, कोविशील्ड, कोवैक्सीन, कोवोवैक्स, कोर्बेवैक्स के साथ ही माडर्ना, जानसन एंड जानसन और जायडस कैडिला की जाय कोव डी शामिल है।