बेलारूस ने रूस को दी अपनी जमीं से परमाणु हमला करने की अनुमति, अगले 24 घंटे अहम

रूस और यूक्रेन के बीच जंग जारी है और अब परमाणु हमले की आशंका भी पैदा हो गई है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पश्चिमी देशों को परमाणु हमले का भय दिखाया है। पुतिन ने परमाणु हथियार संभालने वाले बल को हाई अलर्ट पर करने का आदेश दिया है। ताजा खबर यह है कि परमाणु हमले की योजना में बेलारूस पूरी तरह से रूस की मदद कर रहा है। बेलारूस ने परमाणु निरपेक्षता संधि तोड़ते हुए रूस को इस बात की अनुमति दे दी है कि पुतिन अपनी परमाणु मिसाइलों को बेलारूस में तैनात कर दें और जरूरत पड़ने में वहीं से यूक्रेन पर हमला बोल दे। इसके बाद दुनिया में परमाणु युद्ध (Nuclear War) की आशंका बढ़ गई है। बता दें, आखिरी बार 1945 में जाना के हिरोशिमा और नागासाकी में परमाणु बम गिराए गए थे और भारी तबाही मची थी। यूक्रेन के राष्ट्रपति ने अपने देश के लिए अगले 24 घंटे अहम बताए हैं।

पुतिन ने परमाणु हथियारों को अलर्ट पर रखा तो अमेरिका भी हरकत में आ गया। अमेरिका ने अपनी स्ट्रैटजिक मिसाइलों को अलर्ट पर रखा है। इनमें सुपरसॉनिक मिसाइलें हैं और परमाणु हमले भी किए जा सकते हैं। अमेरिका ने परमाणु हथियारों को अलर्ट पर लाने के रूसी कदम को खतरनाक करार देते हुए अस्वीकार्य बताया है। साथ ही चीन से भी निंदा करने के लिए कहा है। नाटो ने रूस के कदम को गैर जिम्मेदाराना बताते हुए कड़ी निंदा की है। इस बीच यूरोपीय यूनियन (ईयू) के 27 देशों और कई अन्य ने रूसी विमानों के लिए अपना आकाश बंद करने का एलान किया है। साथ ही अमेरिका, ब्रिटेन, जापान और ईयू ने व्यापार भुगतान प्रणाली स्विफ्ट से रूसी बैंकों को बाहर करने की घोषणा की है। पुतिन के खास बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको ने रूस पर कड़े प्रतिबंध लगने से तीसरे विश्व युद्ध छिड़ने का खतरा जताया है।